दोस्तों नमसकर! आज हम जानेंगे 12 Houses in Astrology and Their Lords के बारे मे। दोस्तों हमारे ऋषि मुनियों ने हमारे जन्म कुंडली का चार्ट कितनी मेहनत के साथ और सोच समझ के बनाया है।

12 Houses in Astrology and Their Lords
12 Houses in Astrology and Their Lords

आपकी जन्म कुंडली का कोई भी घर हो उसका निवारण हमारे सामने ही रखा होता है पर वो सब हम लोगों को दिख नहीं पता है। हम लोग चाहे तो बस अपनी दिनचर्या को ठीक करके अपनी जन्म कुंडली के हर भाव को मजबूत कर सकते है और उसका अच्छा फल ले सकते है। तो आइये अब जानते है 12 Houses in Astrology and Their Lords के बारे मे।

12 Houses in Astrology and Their Lords

HouseLashiLord
1st HouseAries (मेष)Mars (मंगल)
2nd HouseTaurus (वृष)Venus (शुक्र)
3rd HouseGemini (मिथुन)Mercury (बुध)
4th HouseCancer (कर्क)Moon (चंद्रमा)
5th HouseLeo (सिंह)Sun (सूर्य)
6th HouseVirgo (कन्या)Mercury (बुध)
7th HouseLibra (तुला)Venus (शुक्र)
8th HouseScorpio (वृश्चिक)Mars (मंगल)
9th HouseSagittarius (धनु)Jupiter (गुरु)_
10th HouseCapricorn (मकर)Saturn (शनि)
11th HouseAquarius (कुम्भ)Saturn (शनि)
12th HousePisces (मीन)Jupiter (गुरु)

12 Houses in Astrology in Hindi

दोस्तों आइये अब इस Article 12 Houses in Astrology and Their Lords मे जानते है कि अपनी जन्म कुंडली के हर भाव का अच्छा फल लेने के लिए अपने दिनचर्या मे क्या सुधार किया जाना चाहिए।

  • पति और पत्नी के बीच प्रेम, समर्पण और ईमानदारी हो तो (1st House) आपका दिमाग, चरित्र, और स्वास्थ्य ठीक रहेगा।
  • शिव और मृत्यु सच है इस बात को हमेशा याद रखे, बुद्धि का उपयोग करें, गलत तरीके से पैसा कमाने की कोशिश न करे और न ही गलत जगह खर्च करें इंसान तो (2nd House) धन कभी कम नही होगा हमेशा बरकत बनी रहेगी।
  • धर्म के रास्ते पर चलना, ईश्वर का प्रतिदिन स्मरण करना, इंसानियत रखना, धर्म स्थान की साफ सफाई करते रहना या धर्म स्थान के बनने मे सहयोग देना (3rd House) पराक्रम से भरपूर होंगे।
  • पिता के अनुभव को साथ मे लेकर चलना, पिता का सम्मान करना और व्यपार तथा नौकरी ईमानदारी रखना तो (4th House) सुख हर चीज़ का मिलेगा।
  • अपनी हर महीने की कमाई में से दसवंद निकालना, बदलते समय के अनुसार योग्यता और ज्ञान को बढ़ाने पर खर्च करना तो (5th House) सन्तान ओर ज्ञान के सुख में वृद्धि मिलेगी।
  • सुबह जल्दी उठकर ध्यान, साधना और योग करना तो (6th House) रोग, ऋण और शत्रु से बहुत हद तक दूर रहेंगे।
  • सुबह जल्दी उठे और अपने चरित्र, स्वास्थ्य तथा सोच को सही रखें तो (7th House) की परेशानियों में बहुत हद तक निजात मिल जाती है।
  • भाषा को सही रखे, सही खान पान रखे, बुरे समय के लिए कुछ धन की व्यवस्था करके रखे (8th House) मृत्यु तुल्य कष्ट से बचे रहेंगे।
  • संघर्ष पूरी ताकत लगाकर करे, भाई और दोस्तो को कभी धोखा न दे, उनके साथ मिलकर चले तो (9th House) भाग्य जरूर बदलेगा।
  • दुनिया की सबसे पहली गुरु माँ होती है, माँ का सम्मान करे और हमेशा आशीर्वाद लेते रहे (10th House) कारोबार और नौकरी की परेशानियो का हल जरूर मिलेगा।
  • ज्ञान और अपनी योग्यता को हमेशा बढ़ते रहे (11th House) आय भाव बहुत तेजी के साथ खुद बढ़ेगा।
  • रोग, ऋण और शत्रु को कभी बड़ा न होने दे (12th House) कोर्ट, कचहरी और अस्पताल से बहुत हद तक निजात मिल जाएगा।

12 Houses in Astrology and Their Lords Conclusion

यदि आप अपने ग्रहो के अच्छे फल चाहते है तो पहले खुद ही आपको अपनी रोजमर्रा किआदतों को बदलना पड़ेगा उसके बाद जीवन अपने आप बदलना शुरू हो जाएगा। उसके बाद पूजा-पाठ, हवन, यज्ञ, इत्यादि उपाय शिद्दत से आपके लिए काम कर सकते है। हो सकता है कि किसी तपस्वी या बुजुर्ग के आशीर्वाद के फलस्वरूप आपको उस समय दुख से निजात मिल जाये परंतु वो निजात लम्बे समय के लिए नही होती है।

बहुत से लोग यह भी उदाहरण देते है कि सफल लोगो को वो ग्रह तंग नही करते तो हम पर यह सूत्र लागू क्यों होता है ? तो ये समझ लीजिये कि आपने सफल लोगों कि तरक्की ओर शोहरत तो देखी, किन्तु उनके जीवन जीने की दिनचर्या पर आपने कभी नज़र नहीं डाली। यदि आप उनके दिनचर्या पर नजर डालते है तो आपको जवाब खुद ही मिल जाएगा।

दोस्तों कभी भी यदि आपके जीवन मे जिस घर से संबन्धित परेशानी आए तो आप उसके सामने वाले घर का उपाय करिए वो भी अपनी दिनचर्या मे बदलाव लाकर आपको समस्या से निजात मिल जाएगा। इसीलिए ज्योतिष मे कहा गया है कि जिस ग्रह कि नेगेटिव दृष्टि जहां पर पड़ती है वो उस घर कि समस्या को बढ़ा देता है।

12 Houses in Astrology and Their Lords FAQ:

Q: कौन सा ग्रह धनवान बनाता है?

Ans: गुरु, सूर्य और मंगल ग्रह की स्थिति यदि शुभ हो तो यह धनवान बनाने मे काफी मदद करता है।

Q: पहला घर किसका होता है?

Ans: पहला घर हमारे व्यक्तित्व का होता है, पहले घर को लग्न भी कहा जाता है। पहले घर को देखकर बताया जाता है की हमारा शरीर और हमारी सोच कैसी होगी।

Q: भाग्य को मजबूत कैसे बनाएं?

Ans: यदि आप अपने भाग्य को मजबूत बनाना चाहते है तो प्रत्येक शुक्रवार को चावल का दान किसी मंदिर मे जरूर करें, मटा लक्ष्मी की कृपा भी होगी और आपका नसीब भी बदलेगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *